मणिबंध रेखा

मणिबंध रेखा

मणिबंध रेखा– हाथ में सभी रेखाओं का अपना एक अलग महत्व होता  है मणिबंध रेखा से व्यक्ति आयु का पता लगाया जाता है।

मणिबंध रेखा कौन सी होती है-

मणिबंध रेखा का स्थान कलाई पर शुरुआत में ही बनी होती है, किसी व्यक्ति में यह दो किसी में तीन भी पाई जाती है।

मणिबंध रेखा का सम्बन्ध-

मणिबंध रेखा का समबन्ध आयु, स्वास्थ्य और संतान से जुडी विभिन्न प्रश्नों का उत्तर देने की भविष्यवाणी से सम्बन्थित होता है।

मणिबंध रेखा का जीवन में असर-

मणिबंध रेखा संख्या के आधार पर– मणिबंध रेखा का सम्बन्ध हमारी आयु से भी होता है,व्यक्ति की एक मणिबंध रेखा 25 वर्ष की आयु,दो मणिबंध रेखा 50 वर्ष व तीन मणिबंध रेखा 75 वर्ष चार मणिबंध रेखा संपन्न और दीर्घायु को दर्शाती है।

मणिबंध रेखा चन्द्र पर्वत पर जाये– अगर मणिबंध रेखा से कोई रेखा चन्द्र पर्वत(अंगूठे के सामने हथेली के आधार पर) की ओर जाये तो विदेश यात्रा के योग होते है।

मणिबंध रेखा का सम व विषम होना– मणिबंध रेखाओं का सम (दो या चार) होना प्रथम संतान कन्या तथा विषम (एक या तीन ) होना प्रथम संतान पुत्र के होने का संकेत देती हैं।

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*


*