राहु के द्वादश भावों में शुभ-अशुभ के आम उपाय

राहु के द्वादश भावों में शुभ-अशुभ के आम उपाय

1. सरस्वती वंदना या आराधना करें।
2. दहेज में बिजली का सामान, नीले रंग के कपड़े, स्टील के बर्तन न लेना।
3. कन्यादान करना (बहन-लड़की के विवाह में या वैसे ही किसी लड़की के विवाह में)
4. सरसों, नीलम, तम्बाकू दान देना।
5. स्टील के बर्तन (बिना इस्तेमाल किए) बन्द न रखना, नीला कपड़ा या नीलम न पहनना।
6. मूली का दान करना, कच्चे कोयले जल प्रवाह करना या जौ का तुला दान करना।
7. गोमेदक धारण करना। गोमेदक के अभाव में सिक्का धारण करना।
8. झूठी गवाही न देना, गवन न करना, ससुराल से अच्छे संबंध रखना।
9. परिवार से अलग न रहना या परिवार में मुखिया न बनना।
10. पक्षियों को सतानाज सूर्योदय के बाद डालना।
11. तम्बाकू का इस्तेमाल न करना।
12. घर में या आंगन में धुआं (गोबर, लकड़ी आदि न जलाना) न करना।
13. रसोई में (चिमनी) धुंआदानी न रखना।
14. झूठी गवाही न देना या झूठ न बोलना।
15. राहु उच्च हो तो राहु की चीज़ों का दान न देना।
16. राहु नीच हो तो राहु की चीज़ों का दान न लेना।
नोट- उपरोक्त उपाय 43 दिन या सप्ताह या माह लगातार करने चाहिए।

Categories: उपाय

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*


*