रत्न-उपरत्न

Back to homepage

पन्ना (Emeraid)

Price : 50000 42500

पन्ना बुध ग्रह का प्रतिनिधि रत्न माना जाता है इसे विभिन्न नामों से पुकारा जाता है- संस्कृत में इसे मर्कत, गरुडांकित, अस्मगर्भ, गोरुण, गरलारि तथा बुधरत्न नामों से, हिन्दी में पन्ना, मराठी में पांचू, बंगला में पाना गुजराती में पीलू, फारसी में जमुर्रंद तथा अंग्रेजी में इसे एमराल्ड कहते हैं। पन्ना हरे तथा तोते की पंख के रंग का पत्थर पाया जाता है, इसी को पन्ना कहते हैं। पन्ना अति प्राचीन, बहुप्रचलित तथा मूल्यवान रत्न होता है। मूल्यवान रत्नों की श्रेणी में इसका तीसरा स्थान है। पन्ना के प्राप्ति स्थान Û सर्वश्रेष्ठ पन्ना उत्पादन का श्रेय भारत को ही है। अजमेर के करीबी क्षेत्रों में पन्ने की खानें हैं, जहां से विश्व का सर्वश्रेष्ठ पन्ना निकाला जाता है। भारत में ही भीलवाड़ा, छतरपुर, उदयपुर क्षेत्रों में भी पन्ने की कुछ छोटी-छोटी खानें हैं। Û मेडागास्कर द्वीप, साइबेरिया, ब्राजील, कोलम्बिया, पाकिस्तान, अमरीका तथा अफ्रीका में भी पन्ने की खानें हैं, जहाँ से पन्ना निकाला जाता है। तत्व एवं संरचना पन्ना ग्रेनाइट तथा पैग्मेटाइट चट्टानों के अतिरिक्त दरारों और परतदार चट्टानों के ढेरों में जन्म लेता है। रासायनिक संगठन के रूप में इसमें पोटैशियम, सोडियम, लीथियम, शीशियम आदि क्षारीय तत्व सम्मिलित रहते हैं। भारत में पन्ना अजमेर, उदयपुर, भीलवाड़ा तथा छतरपुर में प्राप्त होता है। विदेशों में यह पाकिस्तान, अफ्रीका, अमेरिका, ब्राजील, कोलम्बिया, मेडागास्कर द्वीप तथा साइबेरिया में प्राप्त होता है। आजकल सर्वोकृष्ट पन्नों के लिए कोलम्बिया की खानें प्रसिद्ध हैं। दूसरे दर्जे के पन्ना रूस तथा ब्राजील से प्राप्त होते हैं। पन्ना प्रायः पारदर्शी औरदोनों ही रूपों में पाया जाता है। पारदर्शी पन्ने में प्रायः हल्का-सा जाला अथवा रेशा अवश्य पाया जाता है। प्रायः सर्वथा निर्दोष पन्ना कम ही उपलब्ध होता है अगर मिलता भी है तो उसका मूल्य इतना अधिक होता है कि इसे खरीदना आम आदमी के बस का नहीं होता है। पन्ना एक अत्यन्त आकर्षक, मन को मोहने वाला खनिज पत्थर है। बैरूंज जाति का यह खनिज पत्थर एल्यूमिनियम, बालू, बेरोलियम, तथा आॅक्सीजन का संगठन है। बैरूंज भी एक पृथक पत्थर है, लेकिन रूप रंग में पन्ने से बहुत समानता रखता है। श्रेष्ठ पन्ना गहरे, मोहक रंग का होता है। पन्ने हल्के रंग तथा काई के रंग के भी प्राप्त होते हैं। पन्ने में रासायनिक दृष्टिकोण से लीथियम, सोडियम, पोटैशियम जैसे क्षारीय तत्व भी होते हैं। पन्ना अत्यन्त कोमल एवं भंगुर रत्न है। मुद्रिका आदि में जड़वाते समय अत्यन्त सर्तकता बरतना आवश्यक होता है। जरा सी असावधानी से यह टूट सकता है। पन्ने की पहचान Û पन्ना हाथ में लेने पर अपेक्षाकृत भार से कम प्रतीत हो तो पन्ना नकली समझना चाहिए। Û गरम करने से यदि पन्ने का रंग उड़ जाये तो पन्ने को रंगा हुआ समझना चाहिए। Û असली पन्ने को यदि गरम किया जाये तो वह चिटकता नहीं। Û असली पन्ना पूर्णरूपेण दोष (जाल) रहित मिल पाना प्रायः मुश्किल होता है। जाल रहित पन्ना मिलने पर विशेष जाँच परख के बाद ही खरीदना चाहिए। Û पन्ने को हाथ में लेकर देखने से यह एक विशेष चिकनाहट वाला महसूस होता है। Û पन्ना सुंदर, हरी मखमली घास की भांति प्रियदर्शी हरित वर्ण का होता है। साथ ही यह हरे और सफेद मिश्रित रंग का अपारदर्शी भी होता है। Û पन्ना पारदर्शी तथा अपारदर्शी दोनों ही रूपों में प्राप्त होता है। Û असली पन्ने को लकड़ी पर रगड़ने से इसकी चमक में वृद्धि होती है। Û असली पन्ने पर पानी की बूंद रखने से बूंद यथावत् बनी रहती है। Û इसमें भंगुरता होने के कारण यह गिरने से टूट सकता है। विशेषता एवं धारण करने से लाभ पन्ना नेत्र रोग नाशक व ज्वर नाशक होता है। साथ ही पन्ना सन्निपात, दमा, शोथ आदि व्याधियों को नष्ट करके शरीर में बल एवं वीर्य की वृद्धि करता है। पन्ने की प्रमुख विशेषता यह है कि पन्ना धारण करने से बुध जनित समस्त दोष नष्ट हो जाते हैं। इसके धारण करने से धारक की चंचल चिŸा वृŸिायां शांत व संयमित रहती हैं तथा धारक को मानसिक शांति प्राप्त होती है। इसके धारण करने से मन एकाग्र होता है। यह काम, क्रोध आदि विकारों को शांत कर धारक को असीम सुख शांत प्रदान करता है। इसीलिए ईसाई पादरी लोग प्रायः धारण किए रहते हैं। पन्ने के दोष Û चमक रहित पन्ना सुन्न कहा जाता है। ऐसा पन्ना धारण करने योग्य नहीं होता।बीच में एक सीधी रेखा रखने वाला पन्ना भी श्रेष्ठ नहीं होता। इसे धारण नहीं करना चाहिये। Û गुंथे हुए जाल से युक्त पन्ना भी लाभकारी नहीं होता। ऐसा पन्ना भी धारण करने योग्य नहीं माना जाता। Û रूखा तथा गड्ढों युक्त पन्ना भी पहनने योग्य नहीं होता। Û काले अथवा घब्बों से युक्त पन्ना भी धारण नहीं करना चाहिए। Û सफेद धब्बों से युक्त पन्ना भी श्रेष्ठ नहीं कहा जाता। ऐसा पन्ना भी धारण करने योग्य नहीं होता। Û चिटका अथवा खंडित पन्ना भी धारण करने योग्य नहीं होता।

Rating:
Order Now
X

Order Now

    • Ratti
    • 4.25