सूर्य के द्वादश भावों में शुभ-अशुभ के आम उपाय

सूर्य के द्वादश भावों में शुभ-अशुभ के आम उपाय

1. रविवार का व्रत रखना।
2. हरिवंश पुराण की कथा करना या सुनना, सूर्य को मीठा डाल कर अघ्र्य देना।
3. गेहूं, गुड़, तांबा आदि का दान करना।
4. चाल-चलन ठीक रखना।
5. माणिक्य (लाल) धारण करना, माणिक्य के अभाव में तांबा धारण करें।
़6. तांबे का पैसा चलते पानी में बहाना।
7. घर का मुख्य द्वार पूर्व दिशा की ओर रखना।
8. घर का आंगन खुला रखना।
9. बन्दर को गुड़ और गन्दम देना या बन्दर की पालन करना।10. भूरी चीटिंयों को तिरचैली सांयकाल डालना (सूर्यास्त से पहले)।
11. राजकर्मियों की सेवा करना।
12. चारपाई के पायों में तांबे के कील गाड़ना।
13. ब्लैक मार्किटिंग करने वाला-स्मगलर-स्टोरियां न बनना।
14. सूर्य उच्च हो तो सूर्य की चीज़ों का दान न देना।
15. सूर्य नीच हो तो सूर्य की चीज़ों का दान न लेना।
नोट – उपरोक्त उपाय 43 दिन या सप्ताह या मास लगातार करने चाहिए।

Categories: उपाय

Write a Comment

<


*