सूर्य रेखा

सूर्य रेखा

सूर्य रेखा– हाथ की लकीरे हमारी भविष्य से जुड़ी बातो की और इशारा करती है, हम हमेशा अपने करियर को जानने के लिए उत्सुक रहते है सूर्य रेखा को हम सफलता रेखा भी कहते है।

सूर्य रेखा(success line) कौन सी होती है-

सूर्य रेखा का स्थान अनामिका(रिंग) अंगुली के नीचे के क्षेत्र से ऊपर की ओर होता है, रिंग अंगुली के नीचे के क्षेत्र को सूर्य पर्वत कहते है, अगर सूर्य रेखा का फैलाव कलाई तक होता है तो ऐसे व्यक्ति असाधारण माने जाते है,ऐसी रेखा महान पुरुषों,कलाकारों के हाथ में  आसानी से देखी जाती है।

सूर्य रेखा का सम्बन्ध-

सूर्य रेखा का सम्बन्ध मुख्य रूप से क्षमता, प्रतिभा और लोकप्रियता से होता है इसलिए इसे सफलता की रेखा खा जाता है, यह भाग्य रेखा को बहुत प्रभावित करती है।

सूर्य रेखा का जीवन में असर-

सूर्य रेखा का आभाव हो – अगर हथेली में सूर्य रेखा का आभाव पाया जाता है तो सफलता पाने में कठिनाई होती है जातक जितनी मेहनत करता है उतना फल नहीं मिलता है।

सूर्य रेखा छोटी हो– सूर्य रेखा छोटी होती है तो आप पूरे जीवनभर नाम या प्रसिद्धि के बिना एक साधारण जीवन व्यतीत करते है।

सूर्य रेखा टूटी हो– अगर सूर्य रेखा टूटी हुई होती है तो आप अपने करियर से निराशा होते है, अगर ये रेखा टूटकर फिर शुरू हो जतरी है तो इसका मतलब आप अपनी पुराणी गलतियों से सीखकर सफलता प्राप्त करेंगे।

सूर्य रेखा रुक-रुक कर हो– सूर्य रेखा अगर रुक-रुक कर होती है तो ऐसे व्यक्ति अपनी पुरे जीवन में दूसरों के द्वारा दब जाते है जिसके वजह से वह करियर में तो सफल हो जाते है लेकिन अपने जीवन में खुश नहीं रह पाते है।

सूर्य रेखा लहरदार हो– सूर्य रेखा का लहरदार होना आत्म-विश्वास की कमी और जिनमे जीवन की चुनौतियों का सामना करने की हिम्मत नहीं होती है इसलिए ऐसे लोगो अपने करियर में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ता है और मेहनत से सफलता पाते है।

सूर्य रेखा दोहरी हो– अगर सूर्य रेखा दोहरी होती है तो मतलब आपमें अपने व्यवसाय के आलावा भी कौशल और प्रतिभा होती है, आप बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते है।

सूर्य रेखा भाग्य रेखा के बराबर में हो– अगर सूर्य रेखा भाग्य रेखा के बराबर में हो तो यह अच्छा सूचक होता है,आप अपने जीवन में बड़ी सफलता व  अच्छी ख्याति प्राप्त कर सकते है।

सूर्य रेखा से शाखा ऊपर की ओर हो– सूर्य रेखा से शाखा निकलकर अगर ऊपर की और जाती है तो यह अच्छे भाग्य का सूचक होता है,आपकी  अचानक सफलता के कारण दूसरे लोग आपकी सराहना करते है।

सूर्य रेखा से शाखा नीचे की ओर हो– सूर्य रेखा से शाखा निकलकर अगर नीचे की ओर जाती है तो ऐसे व्यक्ति सपने बहुत देखते है लेकिन जितने वह सपने देखते है वह पूरे नहीं हो पाते क्योकि ऐसे व्यक्ति प्रसिद्धि और भाग्य को पाने के लिए अवास्तविकता में जीते है।

सूर्य रेखा का अंत मस्तिष्क रेखा पर हो– अगर सूर्य रेखा हेड रेखा पर ही रुक जाती है तो युवा उम्र में ही आप भागयशाली  होते है और आप 34 साल तक महान सफलता प्राप्त कर लेते है।

सूर्य रेखा भाग्य रेखा से शुरू हो– जिसकी सूर्य रेखा भाग्य रेखा से शुरू होती है वह अपने महान प्रयास और कठिन काम करने के कारण उत्कृष्ट उपलब्धि और दूसरों से सम्मान  प्राप्त करता है।

सूर्य रेखा जीवन रेखा से शुरू हो– जिसकी सूर्य रेखा का प्रारम्भ जीवन रेखा से होता है तो  ऐसे व्यक्ति असाधारण प्रतिभा, किसी अच्छे पद में कार्यरत होते है,ऐसे व्यक्ति निरंतर संघर्ष करते हूए उच्च पद हासिल करते है।

सूर्य रेखा ह्रदय रेखा से शुरू हो– अगर किसी व्यक्ति की सूर्य रेखा ह्रदय रेखा से शुरू होती है तो ऐसे लोगो की कला में विशेष रूचि होती है व धन व सम्मान दोनों हासिल करते है।

सूर्य रेखा हाथ के बीचो-बीच हो– अगर सूर्य रेखा हाथ के बीचो-बीच पायी जाये तो ऐसे व्यक्ति शुरू से ही सफलता पाने के लिए निरन्तर प्रयास में लगे रहते है।

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*


*