स्वास्थ्य रेखा

स्वास्थ्य रेखा

स्वास्थ्य रेखा–  स्वास्थ्य रेखा- अक्सर मनुष्य अपने स्वास्थ्य को लेकर चिंतित  रहता है, शास्त्रों के अनुसार हमारी  हथेली में स्वास्थ्य रेखा होती है जो हमारी अस्वस्थता का सूचक होती है।

स्वास्थ्य रेखा कौन सी होती है-

स्वास्थ्य रेखा छोटी अंगुली के आधार से प्रारम्भ होती हुई अंगूठे के आधार तक फैली रहती है,इसका प्रारम्भ ह्रदय रेखा से हो सकता है लेकिन अंत जीवन रेखा काबीना छुए समाप्त हो जाती है,स्वास्थ्य रेखा शुरू होने का कोई स्थिर बिंदु नहीं है।

स्वास्थ्य रेखा का सम्बन्ध-

स्वास्थ्य रेखा का सम्बन्ध जीवन में स्वास्थ्य संबधो से जुडी जानकारी देना होता है।

स्वास्थ्य रेखा का जीवन में असर-

स्वास्थ्य रेखा का अभाव हो– अगर व्यक्ति के हाथ में स्वास्थ्य रेखा का अभाव होता है तो यह अच्छा सूचक होता है उसे स्वास्थ्य से जुड़ी कोई परेशानी नहीं होती है।

स्वास्थ्य रेखा लहरदार हो– लहरदार स्वास्थ्य रेखा पाचन तंत्र में संभावित स्वास्थ्य समस्याओं,पित्ताशय थैली से सम्बंधित परेशानी हो सकती है।

स्वास्थ्य रेखा टूटी हो– स्वास्थ्य रेखा टूटी हो तो पाचन तंत्र से जुड़ी बीमारी हो सकती है और यदि  सीढ़ीदार रेखा हो तो स्थिति खराब  हो जाती है।

स्वास्थ्य रेखा में क्रॉस हो– अगर स्वास्थ्य रेखा क्रॉस रेखा में दिखती है तो आकस्मिक घटना से हुए शारीरिक नुकसान से जल्द निजात पा लेंगे।

स्वास्थ्य रेखा मस्तिष्क रेखा से पार हो– अगर स्वास्थ्य रेखा हेड लाइन को पार कर जाती है तो आपका स्वास्थ्य मस्तिष्क के अत्यधिक उपयोग के कारण प्रभावित हो सकता है विशेष रूप से मध्य उम्र के बाद।

स्वास्थ्य रेखा अंगूठे की ओर फैली हो– अगर स्वास्थ्य रेखा शुक्र पर्वत(अंगूठा) क़ी ओर फैली रहती है तो आपको ह्रदय सम्बंधित परेशानी,रक्त संचार से जुड़ी परेशानी हो सकती है।

स्वास्थ्य रेखा जीवन रेखा से पार हो– अगर व्यक्ति के हथेली में स्वास्थ्य रेखा जीवन रेखा को पार करती है तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए शुभ संकेत है।